सैंडविच बेचने वाला भावनगर का यह लड़का बना डॉक्टर, जानिए सफलता की धारदार कहानी

Spread the love

मन मजबूत हो तो इंसान कुछ भी कर सकता है। अपने सपनों को साकार करने के लिए बहुत से लड़के और लड़कियां कड़ी मेहनत करते हैं। गुजरात के भावनगर से एक सफल कहानी सामने आई है।

जहां एक लड़का अपने पिता के साथ सैंडविच का व्यवसाय करता है । उसने अपनी मेहनत जारी राखी और अंत में वह डॉक्टर बन गया और अपने परिवार का नाम रोशन किया। उस लड़के का नाम किशन है। वह किशन अभी अपना अस्पताल चला रहा है और उसके पापा सैंडविच का व्यवसाय कर रहे हैं।

उन्होंने पिछले 2 साल से डॉक्टर बनने के बाद अपनी सेवा शुरू की है। भावनगर में उनका अपना क्लिनिक भी है। यह लड़का 16 साल की उम्र से अपने पिता को व्यवसाय में मदद कर रहा है। हितेश भाई के पुत्र डॉक्टर ने बताया कि उनको डॉक्टर बनने में कई मुश्किल या सामने आए । और वह सभी मुश्किलों को पार करते हुए 1 दिन सफल हो ही गया।

आपके जानकारी के लिए बता दें कि आज वह दोनों पिता और पुत्र ज्यादा से ज्यादा पैसे कमाने लगे हैं। और उनके घर की गरीबी दूर हो गई है। उनके पिता यानी कि हितेश भाई ने बताया कि शुरू शुरू में उसने सैंडविच का व्यवसाय शुरू किया तो उसमें कुछ पैसों का लॉस भी हुआ था लेकिन उनके बेटे ने उसका साथ दिया और दोनों ने मिलकर पहले सैंडविच का व्यवसाय किया फिर उसके बेटे ने डॉक्टर की पढ़ाई पूरी की और डॉक्टर बन गया।