यह आईपीएल स्टार के पिता गैस एजेंसी में और खुद करता था सफाई कर्मी का काम- जानिए इसके पीछे की कहानी

Spread the love

हर एक क्रिकेटर क्र पीछे कुछ कहानी होती ही है| आज हम ऐसे ही एक क्रिकेटर की बात करने वाले है जो आईपीएल में धूम मचा रहा हैं | उतर प्रदेश के अलीगढ़ में जन्में 24 वर्षीय रिंकू सिंह को आईपीएल स्टार बनने के लिए पांच साल का इंतजार करना पड़ा। रिंकू को किंग्स इलेवन पंजाब (अब पंजाब किंग्स) ने 2017 में चुना था, लेकिन उन्हें मौका नहीं मिला।

उन्हें 2018 की नीलामी में कोलकाता नाइट राइडर्स ने 80 लाख रुपये में चुना था। वह 2021 तक केकेआर के साथ रहे, जब उन्हें घुटने की चोट के कारण आईपीएल से बाहर कर दिया गया और बाद में गुरकीरत सिंह मान ने उनकी जगह ली। हालांकि उन्हें खेलने का मौका नहीं मिला। केकेआर ने उन्हें इस साल फरवरी में आईपीएल 2022 के लिए फिर से खरीदा। और इस सीजन में, उन्हें कई मैच खेलने को मिले और हर बार इस बल्लेबाज ने प्रभावित किया। आज उनके भी फैन्स बन चुके है| एक फेंस ने कहा की में इनके पिचले जीवन को देख्क्कर बहोत रोया ह|

पोछा लगाने का भी काम किया है
बाएं हाथ के बल्लेबाज और दाएं हाथ के ऑफ-ब्रेक गेंदबाज, रिंकू, एक निम्न मध्यम वर्गीय परिवार से आते हैं। उनके पिता गैस सिलेंडर देने वाली एक घरेलू गैस एजेंसी के लिए काम करते हैं। ऐसे में घर की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं रही। अपने पिता को पांच लाख रुपये का कर्ज चुकाने में मदद करने के लिए रिंकू अपने दैनिक भत्तों से पैसे बचाते थे।

रिंकू के लिए यह इतना कठिन दौर था कि एक समय में उन्होंने क्रिकेट छोड़ने और सफाई कर्मी का काम करने का निर्णय लिया। अपने परिवार की आय में योगदान करने के लिए रिंकू को एक कोचिंग सेंटर में झाड़ू और पोछा लगाने का काम मिला। बाद में रिंकू ने अपने क्रिकेट पर फोकस करने का फैसला किया और कड़ी मेहनत करते गए। फिर एक दिन इन सारी महेनत का फल मिला|

रणजी ट्राॅफी में बनाए खूब रन:
जैसे ही रिंकू को यूपी रणजी ट्रॉफी टीम में जगह मिली। उनकी किस्मत बदल गई। रणजी मैचों में मिलने वाली मैच फीस काफी ज्यादा है। इससे रिंकू को अपने परिवार की बेहतर देखभाल करने में मदद मिल रही है। रिंकू फर्स्ट क्लाॅस क्रिकेट में उत्तर प्रदेश के लिए पिछले कुछ सालों में चर्चा का विषय हैं। 2018-19 सीजन में रिंकू ने 10 मैचों में 953 रन बनाए।

अब तक उन्होंने फर्स्ट क्लाॅस क्रिकेट में 46 पारियों में 2307 रन बनाए हैं, जिसमें पांच शतक और 16 अर्द्धशतक शामिल हैं। 41 लिस्ट ए मैचों में, रिंकू ने 1,414 रन (एक शतक और 12 अर्द्धशतक) जोड़े हैं और टी 20 क्रिकेट में, उन्होंने 64 मैचों में 138.5 की स्ट्राइक रेट और 24.56 की औसत से 1,081 रन बनाए हैं। लोग कह रहे है की ऐसे ही क्रिकेट खेलते रहे तो आगे उनको आगे बहुत सफलता प्राप्त होगी।