Latest

‘अग्निपथ’ के मुद्दे पर गृह मंत्रालयने लिया बड़ा फैसला- अग्निविरो को भर्ती में 10% रिजर्व मिलेगा

Spread the love

केंद्र सरकार द्वारा सशस्त्र बलों में भर्ती के लिए शुरू की गई अग्निपथ योजना के खिलाफ देशभर में हिंसक अग्निपथ योजना का विरोध हो रहा है. इस प्रदर्शन को देखते हुए गृह मंत्रालय ने अग्निविरो के लिए एक अहम फैसला लिया है. केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल (सीएपीएफ) और असम राइफल्स की भर्ती में अग्निवीरो को 10 प्रतिशत आरक्षण देने का निर्णय लिया गया है।

गृह मंत्रालय ने भी अग्निवीरो के रूप में सेवा करने वालों के लिए अधिकतम छूट की घोषणा की है। गृह मंत्रालय के अनुसार, अग्निवीरो को न्यूनतम आयु में 3 वर्ष की छूट दी जाएगी। योजना के विरोध में हिंसक प्रदर्शनकारी सरकारी संपत्ति को निशाना बना रहे हैं. खासतौर पर भारतीय रेलवे को भारी नुकसान हो रहा है। कई पैसेंजर ट्रेनों में आग लगा दी गई है. कई रेलवे स्टेशनों में तोड़फोड़ की गई है. भारतीय रेलवे को हिंसक प्रदर्शनकारियों द्वारा निशाना बनाए जाने के बाद अब भाजपा नेताओं को निशाना बनाया जा रहा है।

बेतिया में शुक्रवार को बिहार की उपमुख्यमंत्री रेणु देवी और बिहार भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायस्वाल के घरों को निशाना बनाया गया. डिप्टी सीएम रेणु देवी के आवास पर पथराव किया। घटना के वक्त वह घर पर मौजूद नहीं थे। प्रदर्शनकारियों ने संजय जायस्वाल के घर पर धावा बोल दिया. संजय जायस्वाल के घर में तोड़फोड़ की गई. सूचना मिलते ही पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को मौके से रवाना किया। हमले के वक्त संजय जायस्वाल अपने घर पर मौजूद थे।

अग्निपथ परियोजना की मुख्य विशेषताएं
– युवाओं को सेना में चार साल के लिए भर्ती किया जाएगा।
– सेना में चार साल की सेवा के बाद युवाओं को भविष्य के लिए एक और मौका दिया जाएगा।

– चार साल की सेवा के बाद आपको आर्मी फंड पैकेज मिलेगा।
– इस योजना के तहत भर्ती होने वाले अधिकांश युवाओं को चार साल बाद रिहा किया जाएगा। हालांकि, कुछ युवा नौकरी करने में सफल रहेंगे।

– 17.5 से 21 साल के युवानो को ऑफर किया जाएगा।
– ट्रेनिंग 10 हफ्ते से लेकर 6 महीने तक चलेगी।
– 10वीं और 12वीं कक्षा के छात्र आवेदन कर सकेंगे।

– अगर कोई दमकलकर्मी देश सेवा के दौरान शहीद हो जाता है तो उसके परिवार के सदस्यों को ब्याज सहित एक करोड़ रुपये से अधिक की रकम मिलेगी। इसके अलावा बची हुई नौकरियों का वेतन भी आपको मिलेगा।
– किसी भी अग्निवीर के विकलांग होने पर 44 लाख रुपये तक। इसके अलावा बची हुई नौकरियों का वेतन भी आपको मिलेगा।
– पूरे देश में मेरिट के आधार पर भर्तियां की जाएंगी। इस भर्ती में चुने जाने वालों को चार साल के लिए नौकरी मिलेगी।

रक्षा मंत्रालय के मुताबिक अग्निपथ योजना के तहत युवाओं को पहले साल 4.76 लाख रुपये का सालाना पैकेज मिलेगा. चौथे वर्ष तक यह बढ़कर 6.92 लाख हो जाएगी। इसके अलावा अन्य जोखिम और हार्डशिपकी रकम भी दिए जायेगी।चार साल की सेवा के बाद युवाओं को 11.7 लाख रुपये का सेवा कोष दिया जाएगा। जिस पर टैक्स नहीं लगेगा।

58 करोड़ के आलीशान घर में लग्जरी लाइफ जीते हैं शाहिद कपूर और मीरा अडाणी जैसे 16 अरबोपतिओ को रुला चूका है हिंडनबर्ग रिसर्च