अगले महीने से SBI में बदल जाएंगे एटीएम और चेकबुक से पैसे निकालने के नियम,जानिए

Spread the love

देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने अपने एटीएम और बैंक शाखाओं से पैसे निकालने के सर्विस चार्ज में बदलाव किया है। एसबीआई की वेबसाइट के मुताबिक, नए शुल्क चेकबुक, ट्रांसफर और अन्य वित्तीय लेनदेन पर लागू होंगे। नया सर्विस चार्ज SBI बेसिक सेविंग्स बैंक डिपॉजिट अकाउंट होल्डर्स पर 1 जुलाई 2021 से लागू होगा।

आपको बता दें कि एसबीआई बीएसबीडी अकाउंट, जिसे जीरो बैलेंस सेविंग अकाउंट के नाम से भी जाना जाता है, मुख्य रूप से समाज के गरीब तबके के लिए है। बैंक नियमित बचत बैंक खातों की तरह ही जीरो बैलेंस खाते में ब्याज का भुगतान करता है।

SBI बीएसबीडी खाताधारकों को चार नकद निकासी लेनदेन की सुविधा देता है। इसमें शाखा लेनदेन के साथ-साथ बैंक एटीएम भी शामिल हैं। फ्री लिमिट खत्म होने के बाद बैंक ग्राहक से शुल्क लेता है। बैंक शाखाओं या एटीएम से नकद निकासी पर 15 रुपये से अधिक जीएसटी लेता है।

एसबीआई की वेबसाइट के अनुसार, बीएसबीडी खाताधारकों के पास एटीएम और बैंक शाखाओं सहित प्रति माह चार मुफ्त नकद निकासी है। शुल्क सीमा के बाद बैंक प्रत्येक ईयर जैक के लिए 15 रुपये प्लस जीएसटी लेगा।

एसबीआई वित्तीय वर्ष में खाताधारकों को 10 चेक नि:शुल्क जारी करेगा। उसके बाद, वह 10 चेक वाली पुस्तक के लिए 40 रुपये प्लस जीएसटी चार्ज करेगा। यह 25 चेक के साथ चेक बुक के लिए 75 रुपये प्लस जीएसटी चार्ज करेगा। इमरजेंसी चेक बुक के लिए 10 चेक के लिए 50 रुपये प्लस जीएसटी देना होगा। हालांकि वरिष्ठ नागरिकों को चेकबुक पर नए सेवा शुल्क से छूट दी जाएगी।