Latest

सिक्किम हादसे में शहीद हुए जवान के घर शहादत के 10 दिन बाद ही गूंजी किलकारी, पत्नीने बेटे को दिया जन्म

Spread the love

कुछ समय पहले ही सिक्किम(Sikkim) में एक सड़क दुर्घटना में 16 जवान शहीद हुए थे. इस दौरान हरियाणा(Haryana) के चरखी दादरी(Charkhi Dadri) जिले के झोझू कलां गांव के निवासी सेना के जवान अरविंद सांगवान भी शहीद हुए थे. प्राप्त जानकारी के अनुसार, अरविंदकी शहादत के 10 दिन बाद ही उनके घर बच्चे का जन्मा हुआ है. शहीद अरविंद के पत्नी ने बेटे को जन्म दिया है. जिसके चलते उनके घर में किलकारी गूंज उठी है.  जच्चा और बच्चा, दोनों ही पूरी तरह से स्वस्थ बताए जा रहे हैं.

बताया जाता है कि शनिवार को शहीद की पत्नी पिंकीने झोझू सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में बेटे को जन्म दिया हे. नवजात शिशु का वजन तीन किलोग्राम बताया जा रहा है. तभी इस बारे में शहीद के पिता राजेंद्र सांगवान ने कहा है कि हमारा प्रयास रहेगा कि अरविंद के दोनों बेटे देश सेवा के लिए सेना में जाएं. वहीं, राज्यमंत्री अनूप धानक भी शहीद के घर पहुंचे और अरविंद की शहादत पर शोक प्रकट करते हुए पुत्र प्राप्ति के लिए परिवार को बधाई दी.

गौरतलब है कि 23 दिसंबर को को भारत-चीन सीमा के पास उत्तरी सिक्किम में एक वाहन के सड़क से फिसलकर घाटी में गिर जाने से सेना के 16 जवानों की मौत हो गई थी. जिनमें झोझू कलां गांव के अरविंद सांगवान भी शामिल थे. शहीद अरविंद का अंतिम संस्कार पूरे सैन्य सम्मान के साथ 25 दिसंबर को किया गया था.

इस बारे में राज्यमंत्री अनूप धानक ने कहा कि अरविंद की शहादत का देश सदैव ऋणि रहेगा. गौरतलब है कि शहीद अरविंद सांगवान की पत्नी पिंकी भी हरियाणा पुलिस में कार्यरत हैं. पिंकी दादरी के महिला थाने में तैनात हैं. अरविंद और पिंकी का पहले से भी एक बेटा था. अरविंद के आठ साल के बेटे ध्रुव सांगवान ने ही शहीद पिता को मुखाग्नि दी थी.

58 करोड़ के आलीशान घर में लग्जरी लाइफ जीते हैं शाहिद कपूर और मीरा अडाणी जैसे 16 अरबोपतिओ को रुला चूका है हिंडनबर्ग रिसर्च