Latest

यहा बना देश का पहला ‘कोरोना माता’ मंदिर, पूजा-आरती करके बांटी प्रसादी

Spread the love

भारत में कोरोना की दूसरी लहर धीरे-धीरे कम हो रही है और देश में कोरोना के मामलों की संख्या में भी कमी आ रही है.इस मंदिर में मूर्ति की स्थापना की गई थी। साथ ही जिस मंदिर का निर्माण किया गया है, उस मंदिर की दीवार पर जागरूकता संदेश भी लिखें। और गांव के लोग इस मंदिर में रखी मूर्ति की पूजा करते हैं.

लोगों में कोरोना के प्रति जागरूकता इसलिए फैली कि इस मंदिर में प्रवेश करने के लिए कोरोना के नियमों का पालन करना पड़ता है। मंदिर की दीवार पर जागरूकता के नारे लिखे हुए थे कि मास्क पहनना, हाथ धोना और दूर से ही देखना जरूरी है।

जनता कोरोना से डरी हुई है। इसलिए लोग परेशान हो जाते हैं और आस्था के साथ मंदिर आते हैं। इस मंदिर के निर्माण के पीछे एक कारण यह भी है कि कोरोना से तीन लोगों की मौत के बाद से शुक्लपुर गांव के लोग डरे हुए हैं.

इस मंदिर की स्थापना तब गांव के लोगों ने की थी। और मूर्ति को नीम के पेड़ के नीचे खड़ा कर दिया गया और मंदिर को कोरोना की माता का मंदिर नाम दिया गया।