गुजरात राज्य में यहां रात में भी मिलेगी सौर ऊर्जा, 69 करोड़ की कीमत पर बनेगा देश का पहला प्रोजेक्ट

Spread the love

मोढेरा सूर्य मंदिर हमारी पौराणिक विरासत है। हमारा ऐतिहासिक पर्यटन स्थल, बड़ी संख्या में पर्यटक यहां प्रतिदिन आते हैं और इसकी कलाकृतियों का आनंद लेते हैं। लेकिन इस ऐतिहासिक जगह की खूबसूरती और रात की रौशनी में अब एक और सौगात जुड़ गई है। यानी अब पूरा सूर्य मंदिर सौर ऊर्जा से जगमगाएगा। ऐसा इसलिए है क्योंकि मोढेरा में 69 करोड़ रुपये की लागत से एक सौर ऊर्जा परियोजना तैयार की जा रही है।

69 करोड़ रुपये की लागत से तैयार किया जा रहा यह प्रोजेक्ट मोढेरा सूर्यमंदिर से तीन किलोमीटर दूर सुजानपुरा में स्थापित किया गया है। सरकार ने यहां सोलर प्रोजेक्ट के लिए 12 एकड़ जमीन आवंटित की है। यहां ग्राउंड में सोलर फोटोवोल्टिक पैनल लगाए गए हैं। साइट पर 3 मेगावाट की कुल दो इकाइयां स्थापित की जाएंगी। साथ ही लिथियम बैटरी वाली बीएसएस तकनीक का इस्तेमाल किया जाएगा।

सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि सौर ऊर्जा से न केवल मोढेरा सूर्य मंदिर बल्कि मोढेरा गांव के 1610 घरों को भी दिन रात बिजली मिलेगी। यह कुल घरों में से 271 पर सिंगल वाट रूफटॉप सिस्टम भी लगा रही है। जिसे बिजली घर वाले भी ग्रेड में बेच सकेंगे। इसके लिए स्मार्ट मीटर भी लगाए जाएंगे। सबसे खास बात यह है कि मोढेरा गांव और मंदिर परिसर के निवासियों को सिर्फ 10 हजार यूनिट बिजली की जरूरत है. लेकिन भविष्य की दृष्टि से इस उत्पाद से 150 लाख यूनिट बिजली का उत्पादन किया जा सकता है। सौभाग्य से गुजरात के लिए सूर्य मंदिर और मोढेरा देश का पहला सोलर विलेज बन जाएगा।