राहुल द्रविड़ का बड़ा बयान: सोचा नहीं था कि कुछ महीनों में ही 6 कप्तानों के साथ काम करना पड़ेगा

Spread the love

तकरीबन 8 महीने पहले राहुल द्रविड़ टीम इंडिया के हेड कोच बने थे। बेंगलुरु में साउथ अफ्रीका के खिलाफ खेले जा रहे सीरीज के पांचवें और आखिरी टी20 मैच से पहले राहुल द्रविड़ ने बतौर टीम इंडिया के कोच उनके सफर की बात की थी और उन्होंने एक बड़ा बयान भी दे दिया था वह बड़ा बयान आप सुनेंगे तो आपके होश उड़ जाएंगे।

राहुल द्रविड़ ने कहा कि मैंने कभी सोचा नहीं था कि मैं जब हेड कोच बनूंगा तब मुझे कुछ ही महीनों में 6 कप्तानों के साथ काम करना होगा। राहुल द्रविड़ का कहना था कि अभी तक का सफर मेरा कामयाब और शानदार था और कुछ चुनौतियों भी मेरे सामने आई थी लेकिन मैंने उसे मात दे दी थी। और मैंने कभी सोचा नहीं था कि मुझे 8 महीने में छह कप्तानों के साथ काम करना पड़ेगा क्योंकि एक कप्तान के साथ सेट होने में कुछ दिन लग जाते हैं और कुछ महीनों भी लग जाते हैं।

आपकी जानकारी के लिए हम आपको बता देते हैं कि राहुल द्रविड़ ने t20 वर्ल्ड कप के बाद टीम इंडिया के कोच का पद संभाला था। तब से अब तक विराट कोहली ,रोहित शर्मा ,के एल राहुल ,अजिंक्य रहाणे , शिखर धवन, ऋषभ पंत की कप्तानी में बतौर कोच काम कर चुके हैं और अपना ज्ञान इन सबको दिया है।

नए लीडर्स तैयार करने में दम घुट जाता है

राहुल द्रविड़ का कहना था कि अलग-अलग कप्तानों के साथ काम करना एक बड़ी चुनौती है और उनको लीडर बनाकर उनकी टीम के साथ खिलाना भी एक बड़ी चुनौती थी। राहुल द्रविड़ ने अभी तक की सबसे बड़ी निराशा जटा दी है। उन्होंने कहा था कि साउथ अफ्रीका का दौरा है निराशाजनक है क्योंकि वहां पर हम 10 से आगे थे और उसके बाद भी शरीर को नहीं जीत पाए।

राहुल द्रविड़ ने साउथ अफ्रीका के साथ जारी मौजूदा सीरीज के लिए बात की थी और उन्होंने एक बयान दिया था उसने कहा था कि सीनियर प्लेयर्स के ना होने के बाद भी हम यहां पर वापसी करने में सफल हो चुके हैं और बता देते हैं कि राहुल द्रविड़ के सामने अपनी बॉडी के नीचे इंग्लैंड द्वारा जो टी-20 वर्ल्ड कप भी है। वह एक बड़ी चुनौती माना जाता है।