Latest

प्रधानमंत्री की मां हीराबा का 100 साल की उम्र में दु:खद निधन, नरेंद्र मोदी ने दिया कंधा- देखें वीडियो

Spread the love

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मां हीरा बा मोदी का शुक्रवार को निधन हो गया। वह 100 साल की थी। हीरा बा ने अहमदाबाद के यूएन मेहता अस्पताल में तड़के 3.30 बजे अंतिम सांस ली. पीएम मोदी अहमदाबाद पहुंच गए हैं. इससे पहले पीएम मोदी ने ट्वीट कर मां हीरा बा को श्रद्धांजलि दी. पीएम की मां हीरा बान को मंगलवार को अचानक सांस लेने में तकलीफ होने लगी. इसके अलावा उन्हें खांसी की भी शिकायत थी। इसके बाद उन्हें तुरंत अहमदाबाद के यूएन मेहता अस्पताल के कार्डियोलॉजी एंड रिसर्च सेंटर में भर्ती कराया गया।

पीएम मोदी सुबह 7 बजकर 45 मिनट पर अहमदाबाद पहुंचे। यहां से वे सीधे गांधीनगर के रायसन गांव में भाई पंकज मोदी के घर गए. पहुंचते ही अंतिम यात्रा शुरू हुई। मोदी शव को कंधे पर लेकर शरण में चले गए। पीएम भी सुनवाई में बैठे थे। सेक्टर-30 स्थित श्मशान घाट में अंतिम संस्कार की प्रक्रिया शुरू हो गई है।

हीराबेन के परिवार ने एक इमोशनल अपील की है. परिवार की ओर से इस कठिन समय में आप सभी की प्रार्थनाओं के लिए हम आप सभी के आभारी हैं। हम आप सभी से विनम्र निवेदन करते हैं कि दिवंगत आत्मा को अपने ध्यान में रखें और अपने पूर्व निर्धारित कार्यक्रम को जारी रखें। यही हीराबेन को सच्ची श्रद्धांजलि होगी।

आपको बता दें कि हीराबेन का अहमदाबाद के एक अस्पताल में इलाज चल रहा था.गुजरात सरकार ने गुरुवार को जानकारी दी कि उनकी सेहत में लगातार सुधार हो रहा है, उन्हें एक-दो दिन में छुट्टी मिल सकती है. पीएम मोदी अपनी मां का हालचाल जानने के लिए अहमदाबाद के यूएन मेहता अस्पताल भी पहुंचे, जहां हीरा बेन भर्ती थीं.

सूत्रों के मुताबिक उन्हें सांस लेने में तकलीफ और ब्लड प्रेशर की समस्या के चलते अस्पताल में भर्ती कराया गया था. गौरतलब है कि गांधीनगर शहर के पास रायसन गांव में पीएम मोदी की मां हीराबेन प्रधानमंत्री मोदी के छोटे भाई पंकज मोदी के साथ रहती थीं. प्रधान मंत्री नियमित रूप से रायसन का दौरा करते थे और अपनी अधिकांश गुजरात यात्राओं के दौरान अपनी माँ के साथ समय बिताते थे।

प्रधानमंत्री मोदी अंतिम संस्कार के बाद सभी निर्धारित कार्यक्रमों में हिस्सा लेंगे
पीएमओ ने ट्वीट किया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दाह संस्कार के बाद अपने सभी निर्धारित कार्यक्रमों में शामिल होंगे। वह वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बंगाल में महत्वपूर्ण परियोजनाओं का भी शुभारंभ करेंगे। पहले प्रधानमंत्री को बंगाल जाना था। स्वच्छ गंगा मिशन परियोजना के उद्घाटन के दौरान बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के अलावा उत्तराखंड और झारखंड के मुख्यमंत्री भी मौजूद रहेंगे।

58 करोड़ के आलीशान घर में लग्जरी लाइफ जीते हैं शाहिद कपूर और मीरा अडाणी जैसे 16 अरबोपतिओ को रुला चूका है हिंडनबर्ग रिसर्च