पपीते के फायदे तो जानते हैं आप, लेकिन उससे हो शकता हे बड़ा नुकसान – जान लो वरना…

Spread the love

आपने बचपन से सुना होगा कि पपीता पेट के लिए बहुत फायदेमंद होता है। इसमें फाइबर और विटामिन जैसे कई पोषक तत्व होते हैं। यह पाचन, वजन बढ़ना, मधुमेह, कैंसर जैसी समस्याओं के लिए ताबीज माना जाता है। इसकी सबसे बड़ी खासियत यह है कि यह बाजार में हमेशा उपलब्ध रहता है और यह ज्यादा महंगा भी नहीं होता है। यही कारण है कि कई घरों में इसका रोजाना सेवन किया जाता है। पपीते के फायदे तो सभी जानते हैं लेकिन इसके कई नुकसान भी हैं। इसका नुकसान यह है कि पपीता कुछ बीमारियों से पीड़ित लोगों को नुकसान पहुंचाता है। आइए हम आपको बताते हैं कि किन लोगों को पपीता नहीं खाना चाहिए।

1. दिल की धड़कन की समस्या होने पर पपीता नहीं खाना चाहिए
दिल से जुड़े रोगों में पपीते का सेवन फायदेमंद होता है। वहीं दिल की धड़कन अनियंत्रित होने पर इसके सेवन से बचना चाहिए। पपीते में सायनोजेनिक ग्लाइकोसाइड अमीनो एसिड होता है। यह एसिड पाचन तंत्र में हाइड्रोजन साइनाइड पैदा कर सकता है। दिल की धड़कन अनियंत्रित होने पर यह चोट पहुंचा सकता है। ऐसे में किसी भी चीज का सेवन डॉक्टर की सलाह के बाद ही करना ज्यादा सुरक्षित होता है।

2. गर्भवती महिलाओं को ध्यान रखना चाहिए
गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को अपने खान-पान पर विशेष ध्यान देना चाहिए। वहीं जब बात पपीते की आती है तो गर्भवती महिलाओं को इसके सेवन से बचना चाहिए। ऐसा इसलिए है क्योंकि पपीते में मौजूद लेटेक्स गर्भाशय के संकुचन को उत्तेजित कर सकता है। यदि ऐसा होता है तो प्रसव में समस्या हो सकती है, यह समय से पहले प्रसव हो सकता है।

3. अगर किडनी में स्टोन है।
पपीता विटामिन सी से भरपूर होता है। इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट सेहत के लिए फायदेमंद होते हैं। लेकिन गुर्दे की पथरी के दौरान पपीते का अधिक सेवन हानिकारक हो सकता है। पपीते के अधिक सेवन से शरीर में कैल्शियम ऑक्सालेट की मात्रा बढ़ सकती है। जिससे किडनी में स्टोन की समस्या हो सकती है।

4. एलर्जी की समस्या वाले लोगों को पपीता नहीं खाना चाहिए
एलर्जी से पीड़ित लोगों को भी पपीता खाने से बचना चाहिए। पपीते में मौजूद चिटिनेज एंजाइम लेटेक्स पर बुरा असर डाल सकता है। इससे सांस लेने में तकलीफ, छींकने, खांसने और आंखों में पानी आने की समस्या हो सकती है। अगर आपको पपीते से एलर्जी है तो इसे डाइट से दूर रखना चाहिए।

5. हाइपोग्लाइसीमिया में पपीते का सेवन न करें
पपीता मधुमेह से पीड़ित लोगों के लिए स्वस्थ है। रोजाना पपीता खाने से ब्लड शुगर कम होता है। लेकिन मधुमेह वाले लोगों में पहले से ही चीनी की मात्रा कम होती है। ऐसे में पपीते का ज्यादा सेवन नुकसान भी पहुंचा सकता है।