बहुत चमत्कारी है भगवान कृष्ण की बांसुरी, जन्माष्टमी पर करें ये काम और धन्य हो जाएं

Spread the love

संबंध बनाए रखने में भगवान कृष्ण सबसे आगे हैं। इसके अलावा आपको भगवान कृष्ण से बेहतर कोई नहीं सिखा सकता कि आप अपने जीवन के हर पड़ाव को मुस्कान के साथ कैसे पार करें। जन्माष्टमी, उनके जन्म का दिन बहुत ही शुभ होता है। यह न केवल कई इच्छाओं की पूर्ति है, बल्कि घर से नकारात्मक ऊर्जा को बाहर निकालने का भी एक अच्छा दिन है।

जन्माष्टमी के दिन आधी रात को भगवान कृष्ण का जन्मदिन मनाया जाता है, इस दिन लोग बाल गोपाल का व्रत और पूजा करते हैं। इस दिन अगर कुछ किया जाए तो जीवन खुशियों से भरा होता है। इस साल जन्माष्टमी 30 अगस्त सोमवार को है। जन्माष्टमी के लिए सोमवार और बुधवार को बहुत शुभ माना जाता है, इसलिए यह जन्माष्टमी कर्म करने के लिए बहुत शुभ है।

व्यापार में लाभ कैसे कमाए : भगवान कृष्ण को बांसुरी बहुत प्रिय है। बांसुरी सुख, शांति और समृद्धि का प्रतीक है। व्यापार में परेशानी हो तो जन्माष्टमी के दिन लकड़ी की 2 बांसुरी की पूजा करें और उन्हें अपने कार्यालय या दुकान के मुख्य द्वार पर रखें। इससे व्यवसाय को बहुत लाभ होगा।

नकारात्मक ऊर्जा के उपाय : यदि घर में कलह हो तो जन्माष्टमी के दिन चांदी की बांसुरी की पूजा करें और उसे ड्राइंग रूम में रखें। इससे घर की नकारात्मक ऊर्जा बाहर जाएगी और घर खुशियों से भर जाएगा।

वैवाहिक समस्याओं के उपाय : पति-पत्नी के बीच मनमुटाव, कलह हो तो जन्माष्टमी के दिन भगवान की पूजा करके बांसुरी चढ़ाएं और फिर उसे अपने शयनकक्ष में रखें। इससे रिश्ते में मधुरता आएगी।

वस्तु दोष दूर करने के उपाय : अक्सर घर को भौतिक दोषों से पूरी तरह मुक्त करना संभव नहीं होता है। वास्तुशास्त्र में कही गई कुछ ऐसी बातें हैं, जो वास्तु दोष दूर करती हैं। बांसुरी इन्हीं में से एक है और बहुत ही चमत्कारी है। घर में उनकी उपस्थिति कई भौतिक दोषों को दूर करती है। इसके लिए जन्माष्टमी के दिन भगवान कृष्ण और बांसुरी की पूजा करें और इसे घर की पूर्व दीवार पर तिरछे रखें।