Latest

KL राहुल ने बताया – बांग्लादेश के खिलाफ टेस्ट में कोनसी रणनीति के साथ उतरेगी भारतीय टीम

Spread the love

वनडे सीरीज हारने के बाद भारतीय टीम अब बांग्लादेश के खिलाफ 2 मैचों की टेस्ट सीरीज खेलने के लिए पूरी तरह तैयार है। पहला टेस्ट मैच 14-18 दिसंबर के बीच खेला जाएगा, जबकि दूसरा टेस्ट मैच 22-26 दिसंबर के बीच खेला जाएगा। बांग्लादेश बनाम भारत हर स्थिति में एक जीत की परीक्षा है। भारतीय टीम को अगर वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) की रेस में बने रहना है तो उसे सीरीज जीतनी होगी। उसके लिए कप्तान के.एल. राहुल ने टीम की रणनीति के बारे में बात की है।

मीडिया से बात करते हुए के.एल. राहुल ने कहा है कि टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल के लिए क्वालिफाई करना दिमाग में है इसलिए हमें आक्रामक होना होगा। हम जानते हैं कि इस समय हम किस स्थिति में हैं और क्वालीफाई करने के लिए हमें क्या करना होगा? हम हर दिन, हर सत्र में परिस्थितियों को ध्यान में रखेंगे और उसी को ध्यान में रखकर खेलेंगे और अपना सर्वश्रेष्ठ देंगे।

हालांकि उन्होंने कहा, हम किसी मानसिकता के साथ नहीं आएंगे। इस मैदान का अपना इतिहास है और आप उसी के आधार पर चीजों का आकलन करेंगे। कम से कम हमारे लिए, हम इसके लिए जाएंगे और आक्रामक और बहादुरी से खेलेंगे। हम मैच में नतीजा निकालने की कोशिश करेंगे।

के.एल. राहुल से जब रोहित शर्मा की चोट के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, रोहित हमारे लिए अहम खिलाड़ी है। वह एक अनुभवी खिलाड़ी और हमारी टीम के कप्तान हैं। वह ऐसे खिलाड़ी हैं जिनकी कमी टीम को खलेगी। हमें उम्मीद है कि वह जल्द ही ठीक होकर दूसरे टेस्ट के लिए टीम से जुड़ेंगे।’ बता दें कि रोहित शर्मा दूसरे वनडे मैच के दौरान फील्डिंग के दौरान चोटिल हो गए थे, तभी से वह इलाज के लिए मुंबई में हैं। बीसीसीआई ने पहले टेस्ट के लिए उनके रिप्लेसमेंट की घोषणा की है, लेकिन दूसरे टेस्ट के बारे में कुछ नहीं कहा है।

पहले टेस्ट के लिए भारतीय टीम:
के.एल. राहुल (कप्तान), शुभमन गिल, चेतेश्वर पुजारा (उपकप्तान), विराट कोहली, श्रेयस अय्यर, ऋषभ पंत, के.एस. भरत, रविचंद्रन अश्विन, अक्षर पटेल, कुलदीप यादव, शार्दुल ठाकुर, मोहम्मद शमी, मोहम्मद सिराज, उमेश यादव, अभिमन्यु ईश्वरन, नवदीप सैनी, सौरभ कुमार, जयदेव उनादकट।

58 करोड़ के आलीशान घर में लग्जरी लाइफ जीते हैं शाहिद कपूर और मीरा अडाणी जैसे 16 अरबोपतिओ को रुला चूका है हिंडनबर्ग रिसर्च