IPL 2022: विराट कोहली ट्रॉफी ना जीत पाने पर खुलकर यह बोले कि…

Spread the love

रन मशीन कहलाने वाले इंडियन प्रीमियर लीग के सर्वकालिक सर्वाधिक रन जुटाने वाले विराट कोहली(Virat Kohli) को यह लगता है कि, इस लुभावनी में 14 साल से खेलते हुए उन्हें महसूस हुआ कि जिस खेल में उन्हें सुपरस्टार का दर्जा हासिल किया था इस खेल में ही अलग आयाम जोड़ने में मदद मिली थी इस खेल में ही उन्हें अभी तक कोई जीत मिल नहीं पाई है। विराट कोहली ने इस दौरान आईपीएल की ट्रॉफी ना जीतने पर भी कई सारी बात कि आज हम आपको बताने वाले हैं।

विराट कोहली लंबे समय से खराब फॉर्म से जीतने के बाद हासिल करने के लिए लगातार कोशिश कर रहे हैं पिछले मैच में ही उन्होंने फिफ्टी मारी थी। आईपीएल में करीब 6500 रन बनाए हैं। वह 2008 में शुरुआती चरण से ही रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के लिए खेल रहे हैं। और आज भी वह उस टाइम नहीं खेल रहे हैं। विराट कोहली ने एक इंटरव्यू में कहा था कि मैं आरसीबी को कभी भी छोड़ने वाला नहीं हूं।

किस तरह विराट कोहली को पहुंचा फायदा
आईपीएल से उनके जीवन पर पड़ने वाले असर के बारे में कोहली ने स्टार स्पोर्ट्स के इंसाइड आरसीबी शॉ पर एक बात की उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि भारत के लिए खेलने के अलावा आईपीएल ने मुझे अपनी काबिलियत दिखाने का मौका दिया था। फिर दुनिया के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों के खिलाफ प्रतिस्पर्धा करने और उनके साथ क्रिकेट की जानकारी साझा मंच मुझे आईपीएल नहीं दिया था।

इसलिए मैं आईपीएल का शुक्रगुजार हूं। उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि आज सबसे अहम चीज थी जिसने मेरी खेल की समझ में एक अलग ही आयाम जोड़ा। प्रगतिशील तरीके से आगे बढ़ने में मुझे आईपीएल से ही मदद मिली थी। मुझे आईपीएल में अलग-अलग खिलाड़ियों के सामने चलते-चलते पता ही नहीं चला कि मैं कितने रन बना पाया और मेरी क्रिकेट कितनी अच्छी हो गई। ने विभिन्न परिस्थितियों में भी खेला था इसलिए मेरी मानसिक स्थिति भी संतुलन में रही।

ट्रॉफी ना जीत पाने के बारे में कहा
लेकिन मैंने इसके बारे में सोचा कि हर किसी के पास इतना वर्क होते हैं और वह चीते हैं और फिर चले जाते हैं और जिंदगी भी चली जाती है ऐसे कई महान खिलाड़ी होंगे जिन्होंने ट्रॉफी जीती होंगी लेकिन आपको कोई इस तरह नहीं पुकारता की हो वह आईपीएल चैंपियन है या वह विश्वकप चैंपियन है या तो वह महान खिलाड़ी है। इसलिए कभी ना कभी आऊंगी आईपीएल तो जीतेंगे ही इसलिए हम सब्र कर रहे हैं और अपनी पूरी मेहनत लगा रहे हैं।