गुरुग्राम में बड़ा हादसा, छठी मंज़िल की छत गिरी, हुई इतने लोगो की दर्दनाक मौत

Spread the love

गुरुग्राम – गुरुग्राम के एक अपार्टमेंट परिसर मे कल छठी मंज़िल का एक हिस्सा पहली मंज़िल से गिरने के बाद एक ३१ वर्षीय महिला की मौत हो गई और एक अन्य महिला १६ धंटे से अधिक समय से लापता है। लापता महिला के पति की पहचान भारतीय रेलवे अधिकारी अरुण श्रीवास्तव के रूप से हुई है, जिनहे पत्थरो के बीच से बचा लिया गया और उन्हे अस्पताल ले जाया गया। दुर्धटना के बाद, श्री श्रीवास्तव का पेर पत्थर के नीचे फंश गया था। बचावकमियों ने उसकी चोटों का इलाज तब तक किया जब तक उसे अस्पताल मे भर्ती नही कराया गया।

निवासियों ने कहा की छठी मंजिल के ड्राइंग रुम क्षेत्र से एक हिस्सा पहली मंजिल पर गिरा था। निवासी कौशल कुमार ने कहा की यह घटना Tower – D में शाम करीब ६ बजे हुए। Tower में चार परिवार रहते थे ओर छह में से दो फ्लेट खाली थे।

घटना में मारे गए एकता भारद्ध्वाज के पति ने गुरुग्राम सेक्टर १०९ के चितेल ग्रुप के बिल्डर के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई। चितेल ग्रुप के मैनिजिंग डायरेकटर अशोक सोलोमन के खिलाफ अपनी शिकायत में राजेश भारध्वाज ने कहा है की अपार्टमेंट परिसर के Tower – D में कुछ मंजिल गिरने के बाद उनकी पत्नी एकता को घातक चौटे आई। उन्होने बिल्डर ओर ठेकेदार पर “लापरवाही ओर घटिया निमाण” करने का आरोप लगाया गया ओर उनके खिलाफ कानूनी कारवाई करने की मांग की गई। 

स्थानिक विधायक राकेश दौलतबाद ने कहा है की बिल्डर के खिलाफ सख्त कारवाई की जाएगी। उन्होने कहा, “हम अभी लोगो की जान बचाने के लिए बचाव कार्य पर ध्यान दे रहे है” नेशनल डिसस्तर रेसपोनसे फोर्स ओर स्टेट डिसस्तर रेसपोनसे फोर्स बचाव कार्य मे लगी हुए है। बचवाकर्मी फ़से हुए व्यक्ति को सांत्वना दे रहे है क्योकि उसके पैर को पत्थर से बाहर निकालने के प्रयास जारी है।