Latest

सूदखोरों से तंग आकर युवक का आपघात- मरने से पहले का वीडियो हुआ वाईरल

Spread the love

गुजरात (gujarat): राज्य में आत्महत्या की घटनाएं दिन पर दिन बढ़ती जा रही हैं. हाल ही में आत्महत्या का एक और हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। सूदखोरों की प्रताड़ना से तंग आकर एक और व्यक्ति ने आत्महत्या कर ली है और पूरा मोहल्ला भ्रमित हो गया है। सूरत में सूदखोरों के चक्‍कर में फंसे एक व्‍यक्ति ने आत्‍महत्‍या कर ली है. जहर निगलने से एक व्यक्ति की मौत हुई है।

गत 22 दिसंबर को सूरत के उधना इलाके में एक राजस्थानी युवक ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। आत्महत्या करने से पहले युवक ने सुसाइड नोट लिखकर अपना दर्द बयां किया। साथ ही खुदकुशी करने से पहले उसने एक आखिरी वीडियो भी बनाया और अपने एक दोस्त को भेजा।

राजस्थान के मूल निवासी दिनाराम जाट ने 22 दिसंबर को आत्महत्या कर ली थी। यह ब्याज दर के लिए जाना जाता है। यह पठानी उघरानी कोई और नहीं। लेकिन, यह उनके रिश्तेदारों ने किया था। इसके साथ ही राजस्थान के तीन अन्य व्यक्ति रंगदारी मांगने और मारपीट करने की धमकी दे रहे थे। मिले सुसाइड नोट में साले के अलावा 3 अन्य लोगों का भी जिक्र है.

जानकारी के अनुसार मृतक दिनाराम फर्नीचर का काम करता था। कारोबारी मामलों को लेकर देवर और बनवी के बीच अनबन हो गई थी। बकाया रुपये के लिए बनवी अमराराम दिनाराम को रंगदारी और मारपीट की धमकी देता था। अमराराम समेत 3 अन्य लोगों ने जमा किए थे 15 हजार के 75 हजार रुपये धर्मेंद्र उर्फ ​​मुन्ना नाम के शख्स ने 15 हजार के बदले 75 हजार दीनार मांगा था. बाद में धर्मेंद्र उर्फ ​​मुन्ना ने और 1.50 लाख की रंगदारी की।

घटना की सूचना मिलते ही उधना पुलिस मौके पर पहुंच गई। मृतक के परिजनों की शिकायत के आधार पर बनवी अमराराम उर्फ ​​अमरचंद जाट, अंताराम बारिक राम रतन जाट, धर्मेंद्र उर्फ ​​मुन्ना जाट के खिलाफ मामला दर्ज कर गिरफ्तारी के लिए छापेमारी शुरू कर दी गयी है.

मृतक दिनाराम ने खुदकुशी करने से पहले वीडियो बनाया। जिसमें उन्होंने अपना अनुभव बताया। वीडियो बनाने के बाद दिनाराम ने वीडियो अपने दोस्त को भेज दिया। वीडियो में उनके ऊपर लिखा सुसाइड नोट भी दिखाया गया है। उसने सुसाइड नोट दिखाते हुए कहा कि इस कागज में समस्या लिखी है। वो लोग मुझे बहुत परेशान करते हैं। वीडियो में वह बार-बार बोलते भी नजर आ रहे हैं।

अपने दोस्त को भेजे वीडियो में मृतक ने कहा, ‘मा और अनु/तपू माफ करना, और मेरी बहना, आज जो कुछ करने जा रहा हूं। मैं इसके लिए माफी मांगता हूं। मैं चिंतित हूँ। अमरचंद आत्माराम बारिक प्रोफेसर 1.50 लाख से आठ लाख। अगर मैं हर दिन पचास कॉल करता हूं। और निकुंज भाई का बहुत बहुत धन्यवाद। जो सूरत में मेरा बहुत साथ दिया है और मैंने सुखराम डॉ. बलदेवजी पंचकाकाजी से क्षमा याचना की है। आप लोग या परिवार मेरे को बहुत सपोर्ट की। मेरी बाई और मैडम और राम रतन दीदास, पूनाराम हिदास कला और धर्मेंद्र मुन्ना धोलेराव खुर्ता रूपरमन 15000 दीया एक साल पहले, उनको 72 हजार वापीस दे दिया और एक आईफोन मेरे से कर्ज कर दिया। उसकी वो एक भी किश्त नहीं दी। 10 हजार महीने की किस्त थी वो भी अमरचंद के साथ दूध के बहुत हरतर किया है और अब भी कर रहा है। आप के भरोसे ही आज अभी पंच बजे दुनिया से जा रहा हूं। आप माफ करना दिनाराम… मैं मुनिबेन और सुरबबेन से माफी मांगता हूं, मेरे पास हो मिस्त्री है खिवराज और पप्पू उनका कोई दोष नहीं है..बकी आज के मेरे फोन में नजनया हुआ…’

58 करोड़ के आलीशान घर में लग्जरी लाइफ जीते हैं शाहिद कपूर और मीरा अडाणी जैसे 16 अरबोपतिओ को रुला चूका है हिंडनबर्ग रिसर्च