सरकार की नाक के नीचे 10 बच्चों के एक साथ हुए बालविवाह, 1500 से ज्यादा लोग थे मौजूद

Spread the love

बाल विवाह को रोकने के लिए सरकार ने कड़े कानून बनाए हैं। फिर भी कई जगहों पर बाल विवाहहोते रहते है। ऐसा ही एक मामला राजस्थान के भीलवाड़ा से सामने आया है, जहां एक ही परिवार के दस बच्चों की एक साथ शादी कर दी गई। हैरानी की बात यह है कि प्रशासन को इसकी भनक तक नहीं लगी। सामूहिक विवाह में डेढ़ हजार से अधिक लोगों ने शिरकत की और भोजन का आनंद भी लिया।

दरअसल बुधवार को भीलवाड़ा के खेड़ा गांव में सामूहिक विवाह का आयोजन किया गया था. जहां अलग-अलग जगहों से बारात आई थी। जिसमें दस जोड़े नाबालिग थे। जिसकी बिंदोली भी गांव में निकाली गई थी। मंच पर जोड़े की तस्वीरें खींची गईं और उनकी वीडियोग्राफी की गई। सामूहिक बाल विवाह की सूचना मिलने के बाद गुरुवार शाम को भीलवाड़ा बाल कल्याण समिति एवं चाइल्ड लाइन ने मंडल थाने में प्राथमिकी दर्ज करायी गई।

संभागीय पुलिस अधिकारी मुकेश वर्मा ने बताया कि बाल कल्याण समिति व चाइल्ड लाइन के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गयी है। मामले की जांच बाल विवाह निषेध अधिनियम की धारा 9, 10 और 11 के तहत की जा रही है। अजनबियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। जांच के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। और ऐसे विवाह ना हो इसका ध्यान भी रखा जायेगा।