कांग्रेस, भाजपा के बाद AAP ने भी पंजाब मे चुनाव टालने के लिए EC को गुहार लगाई।

Spread the love

अगले महीने फरवरी मे दूसरे राज्यो के साथ साथ पंजाब मे भी चुनाव तय हुये है। सभी पक्षो ने अपना अपना दाव खेला है। केप्टन अमरिंदर हो या किशन संगठन हो अपने नए नए पक्ष बनके चुनावी मेदन मे उतरे है। जब ही गत चुनाव की मुख्य विपक्षी पार्टी AAP अपनी सरकार बनाने के दावा कर रही है। पंजाब मे एक ही चरण मे चुनाव होना है। 21 जनवरी को अधिसूचना जारी होगी पुर जो भी उम्मीदवार है उनको 28 जनवरी तक अपना पर्चा भर्ना होगा जब की 31 जनवरी तक अपना पर्चा वापिस खिच सकते है।

गत समय मे भाजपा और कांग्रेस ने पंजाब मे चुनाव टालने की बात काही है। जब की आज AAP के पंजाब के नेता भगवंत मान ने भी चुनाव टालने के बारे मे अपना बयान दिया है। मामला यह है की पंजाब मे चुनाव के लिए मतदान की तारीख 14 फरवरी है और उसी दिन गुरु रविदास की जयंती भी है। सभी राजनैतिक दलो का कहना है की उसी दिन लोग अपनी आस्था से जुड़े विधि विधान मे लगे होंगे उसी दिन चुनाव हो तो गुरु रविदास की जयंती ठीक से आस्था के साथ नहीं माना पाएंगे।

अगर चुनाव ताला जय तो लोग गुरु रविदास की जयंती भी माना सके और चुनाव के मतदान मे भी उत्साह से भाग ले सके।