Latest

मुस्लिम युवक में धड़कता हुआ हिंदू का दिल, ब्रेन डेड युवक के अंगदान से चार लोगों को मिला नया जीवन

Spread the love

सूरत के एक और परिवार ने अंगदान कर मानवता महेकाई है। सूरत अब न केवल डायमंड सिटी के रूप में बल्कि अंगदान के शहर के रूप में भी जाना जाता है। जानकारी के अनुसार सूरत निवासी 19 वर्षीय युवक के ब्रेन डेड घोषित होने के बाद उसके परिवार ने मानवता दिखाने के लिए उसके अंगदान करने का फैसला किया है. इसके बाद युवक को ब्रेन डेड घोषित कर उसने अपना लीवर, दिल और किडनी दान कर दी और चार लोगों को नया जीवन दिया।

पता चला है कि दान किया गया हृदय अहमदाबाद के सुरेंद्रनगर के एक 22 वर्षीय मुस्लिम युवक में प्रत्यारोपित किया गया है। अर्जुन राकेशभाई राठौर सूरत के निकट कोठार में नवा पलिया में रहते थे। साथ ही वह एक टेक्सटाइल यूनिट में काम करता था। इस बीच, 8 नवंबर को, अर्जुन एक दोस्त के साथ अपने घर लौट रहा था, जब वह रात 9:30 बजे एक अज्ञात वाहन से भिड़ा और उसका एक्सीडेंट हो गया। जिसमें उनके सिर में गंभीर चोटें आईं और उन्हें इलाज के लिए तुरंत किरण अस्पताल में शिफ्ट कर दिया गया। जहां डॉक्टरों ने अर्जुन को ब्रेन डेड घोषित कर दिया।

डॉ. मेहुल पांचाल ने अर्जुन को ब्रेन डेड घोषित करते हुए अर्जुन की मां पुष्पाबेन, भाई करण और परिवार के अन्य सदस्यों को अंगदान की पूरी प्रक्रिया के बारे में बताया। साथ ही इसके महत्व के बारे में बताया। तो उनके परिवार ने सोचा, हमें क्या तकलीफ अगर अंगदान से किसीको नया जीवन मिलता है तो। इस तरह उन्होंने अंगदान के लिए अपनी सहमति दी. । पता चला है कि अप्रैल 2021 में अर्जुन के पिता की करंट लगने से दर्दनाक मौत हो गई थी।

परिवार की सहमति से SOTTO से संपर्क किया गया। दान किए गए हृदय को फिर सुरेंद्रनगर निवासी 22 वर्षीय मुस्लिम युवक में प्रत्यारोपित किया गया। इसके अलावा सूरत निवासी 40 वर्षीय व्यक्ति में एक किडनी और सूरत निवासी 46 वर्षीय व्यक्ति में दूसरी किडनी ट्रांसप्लांट की गई। जबकि राजकोट निवासी 64 वर्षीय व्यक्ति का लीवर ट्रांसप्लांट हुआ था।

58 करोड़ के आलीशान घर में लग्जरी लाइफ जीते हैं शाहिद कपूर और मीरा अडाणी जैसे 16 अरबोपतिओ को रुला चूका है हिंडनबर्ग रिसर्च