तो क्या सोनिया गाँधी बिना चुनाव लड़े ही हार जाएँगी? जानिए क्या हे मसला

तो क्या सोनिया गाँधी बिना चुनाव लड़े ही हार जाएँगी? जानिए क्या हे मसला

भाजपा प्रत्याशी दिनेश सिंह ने सोनिया गांधी के नामांकन पत्र पर सवाल उठाते हुए जिला निर्वाचन अधिकारी के सामने आपत्ति दाखिल की है। दिनेश सिंह के वकील ने बताया कि सोनिया गांधी ने अपने नामांकन पत्र में गलत जानकारी दी है। उन्होंने कहा कि शादी के बाद भारतीय नागरिकता के फार्म पर उनका नाम सोनिया गांधी एंटोनियो माइनो है। जबकि उन्होंने नामांकन पत्र में सोनिया गांधी लिखा है।

सोनिया गांधी के नामांकन पर उठाये सवाल:

रायबरेली से भाजपा उम्मीदवार व एमएलसी दिनेश शर्मा के वकील ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि कांग्रेस उम्मीदवार सोनिया गांधी ने अपने नामांकन पत्र में नाम को लेकर गलत जानकारी दी है। जिसके संबंध में जिला निर्वाचन अधिकारी/जिलाधिकारी नेहा शर्मा को उनका नामांकन पत्र रद्द करने के लिए आपत्ति पत्र दाखिल किया गया है। उन्होंने बताया कि सोनिया गांधी ने शादी के बाद भारतीय नागरिकता के फार्म पर सोनिया गांधी एंटोनियो माइनो के नाम से हस्ताक्षर किए थे। लेकिन नामांकन पत्र में उन्होंने सोनिया गांधी के नाम से किए। उन्होंने कहा कि गलत जानकारी देने के कारण इनका नामांकन पत्र रद्द होना चाहिए।

दिनेश सिंह ने दी नामांकन में गलत जानकारी:

वहीं, सोनिया गांधी के प्रतिनिधि के.एल शर्मा ने भाजपा उम्मीदवार व एलएलसी दिनेश प्रताप सिंह पर गंभीर आरोप लगाए है। उन्होंने कहा कि दिनेश प्रताप सिंह ने अभी तक कांग्रेस की सदस्यता से इस्तीफ़ा नहीं दिया है। फिर ये भाजपा के टिकट पर लोकसभा चुनाव कैसे लड़ सकते है। उन्होंने ये भी आरोप लगाया कि उन्होंने चुनाव आयोग को गुमराह किया है और एफिडेविट में तमाम गलत और भ्रामक जानकारिया दी है। जो सही नहीं है। उन्होंने इस संबंध में डीएम नेहा शर्मा को शिकायती पत्र देकर दिनेश प्रताप सिंह का पर्चा ख़ारिज करने की मांग की है। वहीं, इस पूरे मामले पर निर्वाचन अधिकारी और जिलाधिकारी नेहा शर्मा ने सोमवार तक का समय दिया है।

Facebook Comments

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *